Varanasi All Information In Hindi | वाराणसी के बारे में जानकारी

 
varansasi city
Photo Credit:Times of India
भारत की spuritual Capital

ये ऐतिहासिक नगर देश की राजधानी दिल्ली से 692 किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण पूर्व में मौजूद है, 163 वर्ग किलोमीटर में फैला ये शहर समुद्र तल से करीब 80 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है, सड़क पर चलते हुए उत्तरप्रदेश में जहां गाड़ियों पर UP 65 लिखी नंबर प्लेट दिख जाए तो समझ जाइए आप बनारस की धरती पर कदम रख चुके है

ये शहर इतिहास के सबसे पुराने शहरो से एक है जो लगभग 3 हजार साल से उसी जगह बसा हुआ है जहां ये पहले हुआ करता
वाराणसी को ही बनारस और काशी नाम से जाना जाता है, भारत के हर व्यक्ति के मन में एक बार वाराणसी जाने की इच्छा होती है

लगभग हजार साल पहले जब यहां लोगो ने रहने की शुरुआत की तब ये ये नगर गंगा घाटी का सबसे बड़ा नगर हुआ करता था

उसी समय ये भारत के वैदिक ज्ञान, व्यापार,और इंडस्ट्रीज का अहम केंद्र बनकर उभरा, इस शहर में सूती कपड़ा रेशम, हाथी के दांतो से बनी चीजे और मूर्तियां बनाई जाती थी

काशी साम्राज्य के समय भी ये नगर धार्मिक नगर के रूप में बना रहा ,6th सेंचुरी में बनारस से 10 किलोमीटर दूर सारनाथ में महात्मा बुद्ध ने पहली बार उपदेश दिया था

गंगा नदी बनारस से ही बहती है, लगभग 10 किलोमीटर तक इसके किनारे आपको स्नान करने के लिए जगह सीढियां मिल जायेंगी इसके अलावा मदिर और मजारें मिल जायेंगी

बनारस की पतली पतली गालियां और हजारों साल पुराना होने का अहसास दिल को अलग ही खुशी देता है,

धर्म नगरी होने के कारण बनारस की धरती पर करीब 4700 धार्मिक स्थल मौजूद है, जिनमे से 3300 हिंदू मंदिर और लगभग 1390 मस्जीदे है, इसके अलावा यहां दूसरे धर्मो के भी धर्म स्थल काफी संख्या में मौजूद है

बनारस में दस लाख से ज्यादा लोग हर साल धार्मिक यात्रा के लिए आते है, बनारस की शांति और यहां का आध्यात्मिक अहसास हर धर्म के लोगो को यहां बुला लेता है, लाखो की संख्या में विदेशी टूरिस्ट भी यहां आते है,

इस शहर की GDP लगभग 4 बिलियन us डॉलर्स है,जिसमे देश दुनिया से आने वाले इन टूरिट्स का भी योगदान होता है

बनारस में करीब 14 लाख की जनसंख्या है, जिनमें से 70 प्रतिशत आबादी हिंदू, और 28 प्रतिशत आबादी के साथ मुस्लिम समुदाय सबसे बड़ा अल्प संख्यक समुदाय है

इस शहर की 40 प्रतिशत आबादी मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में काम करती है, इसमें साड़ियां बनाना सिल्क का काम,लोकोमोटिव,और सोवेनियर्स सबसे ज्यादा बनते है,बनारस अपनी बनारसी साड़ी के लिए दुनिभर में जाना जाता है

हजारों साल से सिल्क का ये काम इस नगर में किया जाता है, आज के समय ज्यादातर मुस्लिम आबादी सिल्क इंडस्ट्री में काम करती है,

Post a Comment

Previous Post Next Post