भारत के 7 सबसे प्रदूषित और गंदे शहर

dirtiest city in india

 दोस्तो भारत एक बढ़ता हुआ देश है, देश में बड़े बड़े निर्माण बड़े शहर बड़े बड़े रेलवे ,रोड, और बिल्डिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर बन रहे है

ऐसे में शहरो के अंदर ढेर सारे लोग छोटी छोटी जगहों पर हजारों की संख्या में रहते है ,ताकि वो इन प्रोजेक्ट्स में मजदूरी करके अपना पेट पाल सके

ज्यादा तर अनपढ़ आबादी इन प्रोजेक्ट्स के लिए काम करती है, जिनमे साफ सफाई के प्रति इतनी जागरूकता नही होती, वही इनके लिए रहने की ऑर्गेनाइज्ड व्यवस्था नहीं होती

यही बुरे हालात और अव्यवस्था शहरो को गंदा करते है, आज के समय बड़े बड़े शहर कूड़े के ढेरों और गंदगी से भरे हुए है

आज ऐसे ही 7 सबसे गंदगी भरे शहरो की बात करेंगे, दोस्तो अगर इनमे से किसी शहर में रहते है तो बुरा मानने की जरूरत नही है

क्योंकि हमे ही हमारा आइना बनना पड़ेगा, हम इन चीजों से रूबरू होंगे तभी इन समस्याओं को सुलझा पाएंगे

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 की रिपोर्ट में 4242 शहरो का सर्वे किया गया जिनमे से 7 सबसे गंदगी भरे शहरो के बारे में आज हम आपको बताने वाले है

शुरू करते है लिस्ट काउंटडाउन 7वे नंबर से


meerut city
Photo Credit: IndiaTV News

7.मेरठ 

7st नंबर पर उत्तरप्रदेश का मेरठ आता है,मेरठ शहर से हर दिन 900 मैट्रिक टन कूड़ा निकलता है, वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट लगाने के बाद भी इस शहर 17 लाख मीट्रिक टन के कूड़े के पहाड़ बने हुए है,इस शहर का एवरेज air quality index 120 से 180 AQI रहता है।


madurai city
Photo Credit: outlook India

6.मदुरै
 

6th नंबर पे तमिलनाडु का मदुरई शहर आता है,यहां हर रोज 600 मिट्रिक टन कूड़ा इकट्ठा किया जाता है,इस शहर का 64 प्रतिशत कचरा आम घरों से आता है बाकी कचरा फैक्ट्रियों सरकारी संस्थाओं दफ्तरों और छोटे कारखानों से निकलता है,मदुरई का aqi 45 से 100 aqi के बीच रहता है।


north delhi traffic
Photo Credit: India Tourism 

5.नॉर्थ दिल्ली 

5th नंबर पर नॉर्थ दिल्ली आता है, जो इलाका इलाका हरियाणा के पानीपत से सटा हुआ है, हर दिन यहां ढाई हजार टन से ज्यादा गार्बेज कलेक्ट किया जाता है, इसे दिल्ली के सबसे प्रदूषित इलाको में माना जाता है, यहां का एयर क्वालिटी इंडेक्स 150 से 200 के बीच रहता है।


kota city
Photo Credit: Hindustan Times

4.कोटा 

4th नंबर पर राजस्थान का सबसे बड़ा मेगासिटी कोटा आता है, कोटा की 12 लाख की पॉपुलेशन करीब 800 मिट्रिक टन कचरे का उत्पादन करती है, कोटा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 90 से 150 aqi के बीच रहता है।


chennai city
Photo Credit: Citizen Matters

3.चेन्नई 

3वे नंबर पर दक्षिण भारत में मौजूद तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई आता है, चेन्नई का वेस्ट मैनेजमेंट डिपार्टमेंट दिनभर में 19000 कामगारों की मदद से 5400 मीट्रिक टन वेस्ट को इकट्ठा करता है, 5400 में से करीब 3600 टन गार्बेज को हर दिन प्रोसेसिंग प्लांट में प्रोसेस किया जाता है, इस शहर का एवरेज एयर क्वालिटी इंडेक्स 150 से 180 aqi के बीच रहता है।


east delhi
Photo Credit: Hindustan Times

2.ईस्ट दिल्ली 

2th नंबर पर इस countdown में ईस्ट दिल्ली आता है, ईस्ट दिल्ली यमुना नदी के पूर्व में मौजूद है, ये शहर दिनभर में करीब 2300 टन कचरा उत्पादन करता है, ईस्ट दिल्ली का एवरेज एयर क्वालिटी इंडेक्स 110 से 160 के बीच रहता है।


patna city pollution
Photo Credit: Zee News

1.पटना 

1st नंबर पर भारत का सबसे प्रदूषित शहर पटना आता है, पटना बिहार राज्य की राजधानी है, जो एजुकेशन और डेवलपमेंट के मामले में काफी पीछे माना जाता है, इस पूरे प्रदेश में ही साफ सफाई की कमी है, 4000 मिट्रिक तो से ज्यादा घरेलू कचरा इस शहर से हर दिन इकट्ठा किया जाता है, यहां एवरेज एयर क्वालिटी इंडेक्स 70 से 150 के बीच होता है

Post a Comment

Previous Post Next Post